जीवन में लक्ष्य का होना क्यों जरूरी है

Importance of Goal in Life in Hindi

Importance of Goal in Life in Hindi

जीवन में लक्ष्य का होना क्यों जरूरी है

चलिए आपसे एक प्रश्न पूछते हैं क्या आप ऐसी ट्रेन या बस में बैठना पसंद करोगे, जिसका आपको पता नहीं कि वह कहां जा रही हैं?

नहीं ना…

जब आप बिना जाने किसी ट्रेन या बस में नहीं बैठते हैं तो फिर आप जिंदगी के सफर में बिना लक्ष्य के कैसे चल सकते हैं।

तो चलिए आपके लक्ष्य बनाने में आपकी मदद करने के लिए आप को लक्ष्य के महत्व के बारे में बताते हैं।

लक्ष्य आखिर होता क्या है

लक्ष्य एक मंजिल या परिणाम है जिसे एक व्यक्ति अपनी योजना(Plan), कल्पना(Imagination) और प्रतिबद्धता(Commitment) से एक निर्धारित समय सीमा के भीतर प्राप्त करने का प्रयास करता हैं।

लक्ष्य का होना क्यों जरूरी है

नीचे दी गई बातों से आपको पता चलेगा कि लक्ष्य निर्धारित करना आपके लिए कितना ज्यादा जरूरी है:-

1. अपने ऊर्जा का सही उपयोग करने के लिए

आज के युवा की यही कहानी है उसकी ऊर्जा ज्यादातर व्यर्थ के कामों में खर्च होती रहती हैं। घंटो व्हाट्सएप, फेसबुक और इंस्टाग्राम पर लगे रहते हैं और अपना कीमती समय बर्बाद करते रहते हैं। यह ठीक उसी प्रकार है जैसे हम सूर्य की किरणों को लेंस के द्वारा फोकस करके कागज जलाने की कोशिश करते हैं लेकिन लेंस को हिलाते रहते हैं। फिर बोलते हैं कि यह कागज क्यों नहीं जल रहा है।

क्या लेंस खराब है?

नहीं, लेंस को एक जगह केंद्रित नहीं रखने से वह कागज को नहीं जला पाता। यदि हम अपने जीवन में भी एक लक्ष्य बना ले और उसे पाने की ठान ले तो अपनी उर्जा उसे पाने के लिए 100 गुना ज्यादा काम करेगी और हम अपने मनपसंद सपने और मंजिल को प्राप्त कर पाएंगे।

2. सही दिशा में आगे बढ़ने के लिए

लक्ष्य ना होने से आप अपनी जिंदगी के मैदान में इधर-उधर दौड़ते रहते हैं। इस कारण से हम अपनी मंजिल तक नहीं पहुंच पाते हैं।

जब हम लक्ष्य बनाते हैं तो हमें एक दिशा मिल जाती हैं। हमारे सामने अपनी मंजिल की तस्वीर नजर आती है। लक्ष्य बनाने से अपना दिमाग उसे पूरा करने के नए-नए आईडिया बताता है। इस कारण अपनी मंजिल की राह आसान हो जाती है।

3. काम में फोकस होने के लिए

अपना दिमाग कभी खाली नहीं रहता है। अगर इसे लक्ष्य ना दिया जाए तो यह अपने में कचरा विचार भर लेता हैं। जब आपके दिल में लक्ष्य नहीं होगा, तो आप अपने काम के प्रति फोकस नहीं कर पाओगे। लेकिन जब आप लक्ष्य निर्धारित करके उसे पूरा करने की ठान लेते हैं। तो आपके दिमाग को एक टारगेट मिल जाता है। इस कारण आपके फोकस में जबरदस्त सुधार होता है और आपके सपनो को पाने की राह आसान हो जाती है।

4. कार्यक्षमता(Efficiency) बढ़ाने के लिए

कार्यक्षमता जब आप लक्ष्य बनाते हैं और उसे पाने की ठान लेते हैं तो आपकी कार्यक्षमता कई गुना बढ़ जाती हैं। आपमें उत्साह बढ़ जाता है। अपने काम को करने में इंटरेस्ट आता हैं। लेकिन बिना लक्ष्य बनाए अगर आप इधर-उधर के फालतू कामों में उलझे रहते हो तो इस कारण आपकी कार्यक्षमता घट जाती हैं और मनचाहा मुकाम हासिल नहीं कर पाते हैं।

5. लक्ष्य यानी अपनी सफलता की योजना

हर काम की योजना होती हैं। बिना योजना के काम किया गया काम, अपने अनुरूप नहीं होता है। लक्ष्य बनाना एक तरह से अपनी सफलता के लिए रोडमैप बनाने जैसा है। इस रोडमैप पर आप कड़ी मेहनत करके, आप जो चाहो वो प्राप्त कर सकते हो। अपने सपनों की जिंदगी बना सकते हो।

दोस्तों आपको अपने जीवन में लक्ष्य का महत्व समझ आ गया होगा। तो आज ही आप अपने जीवन में कौनसी मंजिल या परिणाम हासिल करना चाहते हैं, यह सोचकर अपने लिए लक्ष्य बनाएं और इसकी समय सीमा निर्धारित कीजिए और उससे प्राप्त करने में लग जाइए।

दोस्तों कमेंट करके बताइए आपको यह आर्टिकल “जीवन में लक्ष्य का होना क्यों जरूरी है-Importance of Goal in our Life in Hindi” कैसा लगा। इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिए ताकि उन्हें भी इससे मदद मिले और हमसे जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज DhakadBaate को जरूर लाइक करें। यह पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

लक्ष्य पर आप इन पोस्ट को भी पढ़ सकते हैं

इन सेल्फ हेल्प आर्टिकल को भी पढ़े

2 comments

अपना मूल्यवान कमेंट यहाँ लिखे