जीवन के संघर्ष – हिंदी कहानी

हमारे जीवन के संघर्ष- हिंदी कहानी

Hindi Story on Struggle

एक बार की बात है। एक छोटा सा परिवार था। वह परिवार बहुत ही दयनीय स्थिति से गुजर रहा था। परिवार हर समय संघर्ष कर रहा था। एक समस्या के हल होने पर दूसरी समस्या पीछे पड़ जाती थी।

इन संघर्षों से थककर परिवार के एक छोटे बच्चे ने अपने पिता से शिकायत की, “अब मैं जिंदगी के इन थपेड़ों से थक चुका हूं। हर रोज के संघर्ष से तंग आ चुका हूं। मुझे अपना भविष्य अंधकार में दिखाई दे रहा है।”

उसका पिता एक पेशेवर रसोइया था। वो लड़के को रसोई घर में ले आया। उसने पानी से तीन घड़े भरे और तीनो को चूल्हे पर रख दिया।

जब तीनो बर्तन में पानी उबलने लगा, तो उसने एक बर्तन में आलू रखे, दूसरे बर्तन में अंडे और तीसरे बर्तन में कॉफी बीन्स। तीनो बर्तन को उबालने दिया।

बेटा बेसब्री से इंतजार कर रहा था, सोच रहा था कि उसके पापा क्या कर रहे है। 20 मिनट के बाद वह बर्नर बंद कर दिया।

उसने आलू को बर्तन से बाहर निकाला और एक कटोरे में रखा। उसने अंडों को बाहर निकाला और उन्हें एक कटोरे में रखा। फिर उसने कॉफी को बाहर निकाला और एक कप में रखा।

लड़के की ओर मुड़कर उसने पूछा, “बेटा, तुम क्या देख रहे हो?”

“आलू, अंडे और कॉफी,” उसने झट से जवाब दिया।

“करीब से देखो और आलू को छुओ।”

लड़के ने छुआ और कहा कि आलू नरम हो गए हैं।

फिर उसने लड़के को एक अंडा लेने और उसे तोड़ने के लिए कहा। खोल को तोड़ने के बाद, उसने कठोर उबले हुए अंडे को देखा।

अंत में, उसने लड़के को कॉफ़ी पीने के लिए कहा। इसकी मस्त सुगंध उसके चेहरे पर मुस्कान ले आई।

“पिताजी, इसका क्या मतलब है?” लड़के ने पूछा।

फिर पिता ने समझाया कि आलू, अंडे और कॉफी बीन्स इन तीनों को एक ही प्रतिकूलता यानी उबलते पानी का सामना करना पड़ा। और हर एक ने अलग तरह से प्रतिक्रिया दी। आलू मजबूत, कठोर था, लेकिन उबलते पानी में, यह नरम और कमजोर हो गया।

अंडा नाजुक था, जिसके अंदरूनी भाग की रक्षा एक पतला बाहरी आवरण कर रहा था। उस उबले पानी में अंडे के अंदर का हिस्सा सख्त हो गया।

इसी प्रकार, कॉफी बीन्स भी अलग थे। उबलते पानी के संपर्क में आने के बाद, इन्होंने पानी को बदल दिया और जबरदस्त कॉफी बनायी।

उसने अपने बेटे से पूछा, “कुछ तुम किस तरह के हो। जब प्रतिकूलता तुम्हारे दरवाजे पर दस्तक देती है, तो तुम कैसे प्रतिक्रिया देते हो? क्या तुम एक आलू हो या एक अंडा या फिर कॉफी बीन्स हो?”

कहानी की शिक्षा:
जीवन में हर रोज नई नई चीजें हमारे आस-पास होती हैं, लेकिन केवल एक चीज जो वास्तव में मायने रखती है, वह यह है कि आप इस पर प्रतिक्रिया कैसे करते हैं और इनसे क्या फायदा उठाते हैं। जीवन के सभी बदलाव को अपनाये और आने वाले उन सभी संघर्षों का सकारात्मकता के साथ सामना करे।

2 comments

अपना मूल्यवान कमेंट यहाँ लिखे