बाधा या अवसर-हिंदी कहानी

हिंदी प्रेरणादायक कहानी

HINDI KAHANIYA

बहुत समय पहले कि बात हैं, एक बार एक राजा ने अपनी प्रजा की परीक्षा लेने की सोची।

उसने एक बड़ा सा पत्थर रास्ते में रख दिया। और खुद कही दूसरी जगह चुप गया और देखने लगा कि कोई इस पत्थर को हटाता हैं या नहीं।

बहुत सारे लोग रास्ते से गुजरे लेकिन किसीने उस पत्थर को नहीं हटाया। कई लोगो ने तो राजा को गालिया दी और कहा कि राजा सड़क को साफ़ रखने के लिए कुछ भी नहीं करता हैं।

राजा के करीबी भी उस रास्ते से गुजरे लेकिन उन्होंने भी पत्थर को नहीं हटाया।

तभी एक किसान उधर से निकला। उसके पास बहुत भारी सामान भी था। लेकिन उसने अपने सामान को साइड में रखा और उस भारी पत्थर को धक्का मारने में लग गया। कुछ देर तक कोशिश करने के बाद आख़िरकार उसने पत्थर को साइड में कर दिया।

वापिस जब वो अपना सामान उठाने गया तो देखा कि जहा से पत्थर हटाया था वहा एक छोटा सा बेग पड़ा था। उसने बेग उठाया और खोला।

उसने देखा कि बेग में बहुत सारे सोने के सिक्के और राजा का एक सन्देश लिखा हुआ था।

सन्देश में लिखा हुआ था कि यह बेग उस व्यक्ति के लिए जिसने पत्थर को हटाया हैं।

दोस्तों हमारे रास्ते में भी बहुत सारी बाधाएं आती हैं। हमे भी शिकायत करना छोड़ कर बाधाओं को हटाकर अपने जीवन को बेहतर बनाना चाहिए।

जरुरी नहीं कि कोई देख रहा हो तभी अच्छे काम करे। जब भी मौका मिले उदार भावना से सेवा करे, आपको इतनी ख़ुशी मिलेगी कि आप सोच भी नहीं सकते।

दोस्तों कैसी लगी ये कहानी हमे कमेंट करके जरूर बताये। आपका इस ब्लॉग पर आने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद्।

इन हिंदी मोटिवेशनल कोट्स को भी पढ़ें:

दोस्तों कैसी लगी ये कहानी हमे कमेंट करके जरूर बताये। और भी बहुत सारी हिंदी नैतिक कहानिया, नैतिक शिक्षा की कहानिया, मोटिवेशनल कहानिया, अच्छी अच्छी कहानिया और प्रेरणादायक कहानिया पढ़ने के लिए यहाँ विजिट करे।आपका इस धाकड़ बाते ब्लॉग पर आने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद्।

अगर आपके पास भी कोई प्रेरणादायक लेख, कहानी, निबंध या फिर कोई जानकारी हैं, जो आप हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं, तो आप हमे dhakadbaate@gmail.com पर ईमेल कर सकते हैं। पसंद आने पर हम आपके नाम के साथ इस ब्लॉग पर पब्लिश करेंगे। साथ ही आप हमसे जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक कीजिये। धन्यवाद!

2 comments

अपना मूल्यवान कमेंट यहाँ लिखे