Top महाराणा प्रताप जयंती स्टेटस and शायरी 2019

महाराणा प्रताप जयंती की शुभकामनाएं

महाराणा प्रताप शायरी

प्रात: स्मरणीय, महान स्वाभिमानी, क्षत्रिय कुल भूषण, हिंदुआ सूरज, सत्य सनातन धर्म की आन-बान-शान, माँ भारती के वीर सपूत, वीर शिरोमणी महाराणा प्रताप की 479वीं जयंती की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं।

इस महान योद्धा के चरणों में शत-शत नमन, जिन्होंने अपने जीवन में तमाम कष्ट सहन करते हुए पूरे देश के सामने देशभक्ति, स्वतन्त्रता और स्वाभिमान की मिसाल पेश की और पूरे हिंदुस्थान को गौरवान्वित किया।

महाराणा प्रताप की अमर कहानी इतिहास के पन्नों पर स्वर्णाक्षरों से अंकित है।

इनकी जयंती के मौके पर आपके लिए महाराणा प्रताप स्टेटस, महाराणा प्रताप शायरी, महाराणा प्रताप quotes लाए हैं…उम्मीद हैं आपको पसंद आएंगे:-

महाराणा प्रताप की शायरी

महाराणा प्रताप शायरी

सूरज का तेज भी फीका पड़ता था,
जब राणा तू अपना मस्तक ऊँचा करता था,
थी राणा तुझमें कोई बात निराली
इसलिए अकबर भी तुझसे डरता था

जो दृढ़ राखे धर्म को तिही राखे करतार
जो इण धर्म रो पालन करे वो हे मेवाड़ी सरदार

चढ़ चेतक पर तलवार उठा
रखता था भूतल पानी को
राणा प्रताप सिर काट काट
करता था सफल जवानी को

इकबाल था बुलंद, उसे धूल कर दिया,
मद जिसका था प्रचंड, सारा दूर कर दिया,
राणा प्रताप इकलौते, थे ऐसे वीर जिसने
अकबर का सारा घमंड, चूर चूर कर दिया

महाराणा प्रताप जयंती स्टेटस

रण बीच चौकड़ी भर-भर कर
चेतक बन गया निराला रे
महाराणा प्रताप के घोड़े से
पड़ गया हवा का पाला रे

हे प्रताप मुझे तु शक्ति दे, दुश्मन को मै भी हराऊंगा।
मै हु तेरा एक अनुयायी, दुश्मन को मार भगाऊंगा॥

हल्दीघाटी के युद्ध में
प्रताप की तलवार को देखकर शत्रु भाग रहा था,
राणा की एक हुंकार से पूरा शत्रु दल काँप रहा था।

आगे नदिया पड़ी अपार
घोड़ा कैसे उतरे उस पार,
राणा ने सोचा इस पार,
तब तक चेतक था उस पार।

हे राणा थारी हुंकार सू
अकबर कांपो जाय
अंबरा में जयां बिजली चमके
ऐठे थारी तलवार चमकी जाए

हसीन तो बहुत होते हैं पर
सभी रानी पद्मिनी जैसे नहीं होते
पूत तो सभी होते हैं पर
महाराणा प्रताप जैसे सपूत नहीं होते

महाराणा प्रताप जयंती कोट्स

फीका पड़ता था तेज़ सुरज का, जब माथा ऊंचा तु करता था।
फीकी हुई बिजली की चमक, जब-जब प्रताप आंखे खोला करता था॥

झुके नही वह मुगलोँ से, अनुबंधों को ठुकरा डाला
मातृ भूमि की भक्ति का, नया प्रतिमान बना डाला

प्रताप का सिर कभी झुका नहीं
इस बात से अकबर भी शर्मिंदा था
मुगल कभी चैन से सो ना सके
जब तक मेवाड़ी राणा जिंदा था

महाराणा प्रताप जैसे वीर हर हिन्दुस्तानी को प्यारा हैं,
मेवाड़ी सरदार के चरणों में शत-शत नमन हमारा हैं.

राजपुताना की आन है राणा,
राजपुताना की शान है राणा,
वीरों के लिए एक पैगाम है राणा,
भारत के वीर पुत्र का नाम है राणा.

प्रताप की गौरव गाथा हर कोई सुनाएगा गाकर.
मेवाड़ धरा भी धन्य हो गई प्रताप जैसा पुत्र पाकर,

जिसने अपनी मातृभूमि के लिए हर कष्ट सहा
रण में कभी हार नहीं मानी
वो हे अपना मेवाड़ी सरदार महाराणा प्रताप

शत-शत नमन उस मेवाड़ी वीर को
जिसने अपने भाले से दुश्मनों के छक्के छुड़ाए थे
मातृभूमि की स्वतन्त्रता के खातिर
कई वर्ष जंगल में गुजारे थे।

साहस का प्रतीक नीले घोड़े पर सवार,
वीरता का प्रतीक मेरा मेवाड़ी सरदार.

करता हूं नमन में प्रताप को जो वीरता का प्रतीक है
तू लोह पुरुष, तू मातृ भक्त, तू अखंडता का प्रतीक है

जो सूरज से प्राप्त हो उसे ताप कहते हैं
जो हमें जन्म दे उसे बाप कहते हैं
और जो मुगलों से कभी ना डरे और ना हारे
उसे सरदार महाराणा प्रताप कहते हैं

जब जब तेरी तलवार उठी तो दुश्मन की टोली डोल गई
फिकी पड़ी दहाड़ शेर की जब जब तूने हुंकार भरी

हे धर्म हर हिंदुस्तानी का कि तेरे जैसा बनना है
चलना है अब तो उसी रास्ते जो प्रताप ने दिखाया है

मातृभूमि के लिए सर्वस्व निछावर कर जाऊँगा,
वक्त आने पर मैं भी मेवाड़ी राणा बन जाऊँगा

ये हिन्द झूम उठे गुल चमन में खिल जाएँ,
दुश्मनों के कलेजे, नाम सुन के हिल जाएँ,
कोई औकात नहीं चीन-पाक जैसे देशों की
वतन को फिर से जो राणा प्रताप मिल जाएँ

धन्य हुआ राजस्थान जो जन्म लिया प्रताप ने
धन्य हुआ रे मेवाड़ जो कदम रखे प्रताप ने

महाराणा प्रताप जयंती स्टेटस and शायरी

हल्दीघाटी के युद्ध में मेवाड़ी वीरों ने कोहराम मचाया था,
महाराणा प्रताप की वीरता देख अकबर भी घबराया था

हर मां की ये ख्वाहिश है, कि एक प्रताप वो भी पैदा करे।
देख के उसकी शक्ति को, हर दुश्मन उससे डरा करे॥

आज का योद्धा तो जुबानी जंग में भी हार जाते हैं
योद्धा तो वो था….
जिसके चेतक और भाले की मिशाले आज तक दी जाती हैं

जय महाराणा प्रताप, जय मेवाड़, जय एकलिंग जी…

अपना मूल्यवान कमेंट यहाँ लिखे