नोबेल पुरुस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी के दिल छू लेने वाले विचार

कैलाश सत्यार्थी के अनमोल वचन – Kailash Satyarthi Quotes in Hindi

कैलाश सत्यार्थी के प्रेरक कथन

बचपन का मतलब होता है सादगी। इस दुनिया को बच्चों की नज़र से देखो- ये बहुत खूबसूरत है।

कैलाश सत्यार्थी

मैं एक ऐसी दुनिया का सपना देखता हूँ जहाँ बाल श्रम ना हो, एक ऐसी दुनिया जिसमे हर बच्चा स्कूल जाता हो। एक ऐसी दुनिया जहाँ हर बच्चे को उसका मौलिक अधिकार मिले।

कैलाश सत्यार्थी

मेरे लिए, शांति हर बच्चे का एक मौलिक मानवाधिकार है, यह अनिवार्य है और दिव्य है।

कैलाश सत्यार्थी

बच्चों को सपने देखने से वंचित करने से बढ़कर कोई अपराध नहीं है।

कैलाश सत्यार्थी

चलिए, हम हमारे बच्चों के प्रति करुणा के माध्यम से दुनिया को एकजुट करते हैं।

कैलाश सत्यार्थी

हर एक मिनट मायने रखता है, हर एक छोटा बच्चा मायने रखता है, हर एक बचपन मायने रखता है।

कैलाश सत्यार्थी

अगर अभी नहीं, तो फिर कब? अगर तुम नहीं, तो और कौन? अगर हम इन मौलिक सवालो का उत्तर दे सकें, तो शायद हम सब मानव गुलामी का दाग मिटा सकें।

कैलाश सत्यार्थी

मैं मंदिरों में कभी नहीं जाता, लेकिन जब मैं एक बच्चे को देखता हूँ, मुझे उसमें भगवान दिखाई देते हैं और मैं उन्हीं में भगवान का दर्शन करता हूँ।

कैलाश सत्यार्थी

दोस्तों, आज मानवता के दरवाजे पर दस्तक देने वाला सबसे बड़ा संकट-असहिष्णुता है।

कैलाश सत्यार्थी

मैं शोषण से शिक्षा की ओर, और गरीबी से साझा समृद्धि की ओर प्रगति करने के लिए कहता हूँ, एक ऐसी प्रगति जो गुलामी से आज़ादी की ओर हो, एक ऐसी प्रगति जो हिंसा से शांति की ओर हो।

कैलाश सत्यार्थी

चलिए अन्धकार से प्रकाश की ओर बढें। चलिए मृत्यु से देवत्व की ओर बढें। चलिए हम आगे बढें।

मेरे जीवन का एकमात्र उद्देश्य यह है कि हर बच्चा:
एक बच्चा होने के लिए आज़ाद हो,
आगे बढ़ने और खुद का विकास करने के लिए आज़ाद हो,
खाने, सोने, और दिन के उजाले को देखने के लिए आज़ाद हो,
हंसने और रोने के लिए आज़ाद हो,
खेलने के लिए आज़ाद हो,
सीखने, स्कूल जाने और सबसे ऊंचा सपने देखने के लिए आज़ाद हो।

अपना मूल्यवान कमेंट यहाँ लिखे