ध्यान करने के 5 आसान तरीके और इसके फायदे

ध्यान कैसे करते हैं?

ध्यान(मेडिटेशन) करने के आसान तरीके

ध्यान करने के आसान से तरीके जानने से पहले यह जानते हैं कि ध्यान का क्या मतलब है? ध्यान क्यों करना चाहिए? आदि के बारे में जानते हैं ।

अगर आप भी अपने काम में ज्यादा फोकस होना चाहते हैं या फिर अपने काम से ज्यादा परिणाम पाना चाहते हैं तो आपको ध्यान जरूर करना चाहिए।

ध्यान (मेडिटेशन) क्या है

ध्यान एक अभ्यास है, जहां व्यक्ति किसी विशेष वस्तु, विचार या फिर किसी गतिविधि पर ध्यान केंद्रित करके शांत एवं स्वस्थ मानसिक और भावनात्मक स्थिति को प्राप्त करता है।

ध्यान अपने चंचल मन और इच्छाओं पर कंट्रोल करना सिखाता है। ध्यान आपके अंदर छुपी असीम शक्तियों को पहचानने में मदद करता है।

ध्यान (मेडिटेशन) क्यों करना चाहिए

आजकल लगभग हर इंसान मानसिक रूप से परेशान है। इस कारण उसकी जिंदगी में अशांति और दुख बना रहता है और इस वजह से वह अपने जीवन में इच्छित सफलता नहीं प्राप्त कर पाते हैं। अपने अंदर की असीम शक्ति बिखरी अवस्था में रहती हैं। जिससे किसी एक काम पर फोकस नहीं होने के कारण अपने लक्ष्य को पाने में असफल रहते हैं।

इसलिए ध्यान एक ऐसा तरीका है जिसमें आप अपनी एनर्जी को एक जगह केंद्रित कर पाएंगे। ध्यान आपके चंचल मन को शांत करेगा।

ध्यान (मेडिटेशन) करने से पहले कुछ जरूरी सुझाव

ध्यान वैसे किसी भी अवस्था में, कहीं भी किया जा सकता है। लेकिन इन सुझावों को अपनाएंगे तो आपको ध्यान से जल्दी फायदा होगा। यह सुझाव निम्न हैं:

  • ध्यान के लिए शांत वातावरण चुने
  • सुबह का समय ध्यान के लिए उत्तम माना जाता है
  • ध्यान के लिए अपना पेट ना तो पूरा खाली होना चाहिए ना पूरा भरा हुआ होना चाहिए
  • ध्यान के लिए आरामदायक अवस्था चुने, जिसमें आप लंबे समय तक बैठ सके। लेकिन रीड की हड्डी हमेशा सीधी हो, ऐसी चुने।
  • बैठने का आसन कुचालक हो यानी कि बैठने के लिए लकड़ी, प्लास्टिक ऊन आदि का आसन होना चाहिए।
  • शुरुआत में ध्यान चार पांच मिनट का ही करें। बाद में इसकी अवधि बढ़ाकर आधे घंटे-एक घंटे तक कर सकते हैं।
  • ध्यान करते वक्त आपके चेहरे पर स्माइल रहनी चाहिए और खुद अच्छा महसूस करें।

चलिए अब आपको बताते हैं ध्यान करने के सबसे आसान तरीके:

ध्यान (मेडिटेशन) कैसे करें-ध्यान करने के आसान तरीके

ध्यान करने के हजारों तरीके हो सकते हैं लेकिन आप अपने व्यस्त दैनिक जीवन में इन आसान से तरीकों का इस्तेमाल करके ध्यान में सफलता प्राप्त कर सकते हैं और इसका फायदा ले सकते हैं।

1. गिनती वाला ध्यान

आप ध्यान मुद्रा में बैठे और अपनी नजर को नाक के अगले वाले हिस्से पर केंद्रित कर दें। अब एक गहरी सांस लें, फिर धीरे-धीरे छोड़ें और गिनती करें ‘एक’। दोबारा गहरी सांस लें और फिर धीरे-धीरे छोड़े और गिने ‘दो’।

इसी प्रक्रिया को दोहराते हुए 100 तक गिनती पूरी करें उसके बाद फिर एक से शुरू करें और इस प्रक्रिया को दोहराते रहे। शुरुआत में यह प्रक्रिया 10 बार कर सकते हैं, उसके बाद बढ़ा सकते हैं। इससे आपके फोकस में सुधार होगा।

2. त्राटक ध्यान

त्राटक का मतलब है किसी वस्तु को एकटक निहारना। आप आप कुछ भी ले सकते हैं जैसे दीपक की लौ, आसमान के तारे, भगवान की तस्वीर, या फिर किसी छोटे बिंदु को देखते हुए आप त्राटक कर सकते हैं।
त्राटक करने की पूरी विधि को आप इस लिंक पर जाकर पढ़ सकते हैं: त्राटक-एकाग्रता शक्ति बढ़ाये

3. चलते फिरते ध्यान

आप चलते-फिरते भी ध्यान कर सकते हैं। आप कहीं भी जाओ, अपने कदम (steps) की गिनती करने लग जाओ 1 से 100 तक। इस प्रक्रिया को दोहराते रहें। इस प्रकार आप चलते-फिरते भी ध्यान कर सकते हैं। इससे आपका ध्यान एक जगह केंद्रित होने लग जाएगा और आपको एकाग्रता बढ़ाने में फायदा मिलेगा।

4. भँवरे वाला ध्यान

कमर सीधी करके ध्यान मुद्रा में बैठे और आंखें बंद कर ले। अब गहरी श्वास लें, कुछ देर अंदर रोककर रखें, जबरदस्ती न करे। फिर भँवरे जैसी आवाज के जैसे गुंजन करते हुए धीरे-धीरे श्वास बाहर निकालें। वापस गहरी सांस लें और यही प्रक्रिया 10 बार दोहराएं। यह है भंवरे वाला ध्यान। 10 दिन करके देखे आपको असर दिखने लगे जाएगा।

5. कल्पना ध्यान

कमर सीधी करके ध्यान मुद्रा में बैठे, आंखें बंद कर ले, नॉर्मल श्वास चलने दे, शरीर को ढीला छोड़ दें, कमर सीधी रखें और चेहरे पर स्माइल रखें।

अब कल्पना करें कि ब्रह्मांड की असीम ऊर्जा आपके सिर की चोटी के रास्ते आपके शरीर में प्रवेश कर रही हैं। आपके हर अंग को स्वस्थ और स्वच्छ कर रही हैं। आप के हर अंग की बीमारी को दूर कर रही हैं। आपका शरीर इस दिव्य उर्जा से प्रकाशमान हो रहा है। महसूस करे कि आपके सारे दुख, दर्द और तनाव दूर हो रहे हैं। महसूस करें कि आपका जीवन दिव्य हो रहा है। दिव्य चमकते हुए, मुस्कुराते हुए चेहरे को महसूस करें। यह महसूस करे कि उस परमपिता परमेश्वर का हाथ आपके सिर पर हैं और आपकी सारी परेशानियां दूर कर रहे हैं। महसूस करे कि आपको आपके हर सवाल का जवाब मिल रहा है। महसूस करे कि आपका चेहरा दिव्य तेज से ओतप्रोत हैं।

इसी तरह अच्छा महसूस करें और करते रहे। जितनी देर आपका दिल करें बैठे रहे और इस असीम आंतरिक आनंद का अनुभव करते रहे। नियमित ध्यान करने से आपको 10 दिन के भीतर ही गजब के अनुभव होंगे।

ध्यान (मेडिटेशन) से होने वाले लाभ-ध्यान करने के फायदे

ध्यान से हमे शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक तीनो तरह के लाभ मिलते हैं।

ध्यान से शारीरिक लाभ

टेंशन (तनाव) हमारे शरीर पर बहुत ही घातक प्रभाव डालता है। ध्यान के अभ्यास से हमारा शरीर पूरी तरह शांत हो जाता है। हमारा सारा तनाव दूर हो जाता है। अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती हैं। ब्लड-प्रेशर, पाचन क्रिया सब कुछ नॉर्मल हो जाते हैं। नींद अच्छी आती है। दिमाग स्वस्थ तंदुरुस्त हो जाता है और एकदम तरोताजा रहता है।

ध्यान से मानसिक लाभ

दिन भर अपने दिमाग में विचारों की चकाचौंध होती रहती हैं। लेकिन जब ध्यान करते हैं तो हमारा मन शांत होने लगता है। जिससे हमारा ध्यान बाहरी समस्याओं से हट जाता है। नकारात्मकता से सकारात्मकता की ओर चला जाता है। नियमित ध्यान करने से एकाग्रता शक्ति बढ़ जाती हैं। जिससे हमारी रचनात्मकता और उत्पादकता में बढ़ोतरी होती हैं। साथ ही तनाव में कमी होती है। हमारे अंदर एक अलग ही उर्जा आ जाती हैं। जिससे हम जीवन की चुनौतियों को बेहतर ढंग से सुलझा पाते हैं। अपने अंदर सकारात्मकता आ जाती हैं। इससे रिश्तों में भी सुधार होता है। प्रोफेशनल लाइफ में भी गजब का आत्मविश्वास आ जाता है।

ध्यान से आध्यात्मिक लाभ

ध्यान के अभ्यास को निरंतर करने से हमारा आध्यात्मिक जीवन भी ऊंचाइयों को छू लेता हूं। इससे अनदेखे, अनसुलझे रहस्य जान सकते हैं। ध्यान से हम उस परमपिता परमेश्वर की असीम शक्तियों की कुछ झलक पा सकते हैं। ध्यान से हम अपार ज्ञान, प्रेम और शक्ति को हासिल कर सकते हैं। ध्यान को साध लेने से आपका हर पल आनंद से भरा रहेगा।

ध्यान करने से और भी बहुत कुछ फायदे होते हैं, जो कि असीमित है। उनमें से कुछ और बता देता हूं:

  • ध्यान करने से एकाग्रता बढ़ती है,जिससे याददाश्त बढ़ती हैं।
  • विभिन्न बीमारियों से छुटकारा मिल जाता है।
  • आपका चीजों को देखने का नजरिया बदल जाएगा।
  • आप अपनी बिखरी शक्तियों को केंद्रित कर पाएंगे।
  • अच्छा महसूस होने से अच्छे हार्मोन बनते हैं, जिससे स्वास्थ्य दमदार बना रहता है।

दोस्तों, ध्यान की शक्ति का कोई पार नहीं है। इससे आप चाहे जो हासिल कर सकते हैं। बस थोड़ी सी ज़िद चाहिए कि रोज ध्यान करना हैं। शुरुआत में 10 मिनट ही करो लेकिन करो जरूर। इतनी भी जिद नहीं है तो फिर बैठे रहो किसी चमत्कार की उम्मीद में, जो कभी नहीं होगा।

एक शुरुआत करके देखो, फिर इसे अपनी आदत बना लो। फिर देखो आप कहां से कहां पहुंच जाते हो।

दोस्तों ‘ध्यान करने के आसान तरीके’ यह पोस्ट आपको कैसी लगी? हमें जरूर बताइए और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। आप कड़ी मेहनत करें और आपके सारे सपने पूरे हो। इसी उम्मीद के साथ आपका पोस्ट पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद😊:)

इन्हे भी पढ़े:

2 comments

अपना मूल्यवान कमेंट यहाँ लिखे