इम्यूनिटी पावर / रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाए-How to Increase Immunity Power

रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाए

how-to-boost-your-immunity-system in Hindi

प्रतिरक्षा तंत्र को कैसे मजबूत करें

अपने शरीर को बाहरी तत्वों के आक्रमण से बचाने के लिए, हमारे शरीर में प्रतिरक्षा तंत्र(immune system) होता है। अगर यह प्रतिरक्षा तंत्र कमजोर है तो अपने शरीर को कई बीमारियां घेर लेती हैं। इसलिए आज अपने इम्यून सिस्टम को कैसे बेहतर बनाएं यह जानेंगे।

इन तरीकों से बढ़ाएं अपनी इम्यूनिटी पावर

उचित खानपान ले

अच्छी इम्युनिटी के लिए एक हेल्थी डाइट का होना बहुत जरूरी है। अपने खाने में हरी सब्जियां और दूध एवं दूध से बने पदार्थ जरूर शामिल करें।

इसके अलावा सलाद, आंवला, नींबू, हल्दी, तुलसी इन सब को भी अपने दैनिक जीवन में जगह दे। यह छोटी-छोटी चीजें आपकी इम्युनिटी पावर को जबरदस्त तरीके से बढ़ा देगी।

व्यायाम/योग प्राणायाम

व्यायाम हमारे शरीर को स्वस्थ और तरोताजा रखता हैं। व्यायाम करने से अपने शरीर में अच्छे-अच्छे हार्मोन रिलीज होते हैं। जो अपने मूड को अच्छा करते हैं और अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाते हैं। योग और प्राणायाम से आपके शरीर में गजब की रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती हैं

पर्याप्त पानी पिये

दिन में तीन-चार लीटर पानी पीने से अपने शरीर में जमा विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। इससे इम्युनिटी पावर बढ़ती हैं।

फ्रीज ठंडा पानी बिल्कुल ना पिये, मटके का पानी पिये।

नशे को कहें बाय-बाय

नशा चाहे सिगरेट, तंबाकू, शराब या किसी भी चीज का हो इनसे दूर रहना ही बेहतर है। कोई सा भी नशा आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कम कर देता है

पर्याप्त नींद लें

कम या ज्यादा नींद स्वास्थ्य के लिए घातक होती है। पर्याप्त नींद के अभाव में शरीर को कई बीमारियां घेर लेती हैं।

इसलिए एक मजबूत इम्यूनिटी सिस्टम के लिए 6 से 7 घंटे की नींद जरूरी है। और जल्दी सोने और जल्दी उठने की आदत डालें।

तनावमुक्त रहे

इस भागदौड़ भरी जिंदगी में हर कोई तनाव से ग्रसित है। इस कारण उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कम हो जाती है। इसलिए तनाव से बचने के लिए ध्यान का अभ्यास करें। आप अच्छा महसूस करें, अच्छी किताबें पड़े हैं, मनमोहक जगह पर घूमने जाए। इन सब से आपका तनाव भाग जाएगा और आपके रोग प्रतिरोधक शक्ति में सुधार होगा।

दोस्तों केवल ज्ञान की बातें जानना और सोचना कि यह तो मेरे को पहले से ही पता है, इन सब से काम नहीं चलेगा। इन्हें अपने जीवन में उतारना होगा, इन्हें अमल में लाना होगा। तभी नतीजे दिखेंगे। दिमाग में भरे ज्ञान का शून्य परिणाम मिलेगा, जब तक आप इसे अमल में नहीं लाएंगे।

इन हिंदी आर्टिकल को भी पढ़े