“घोड़े की नाल” हिंदी कहानी

हिंदी प्रेरणादायक कहानी

एक बार किसी देश पर उसके शत्रुओ ने आक्रमण की तैयारी की। ये बात इस देश के गुप्तचरों को पता चल गई।

Hindi Motivational Stories

गुप्तचरों ने राजा को समाचार पहुंचाया कि शत्रुओ द्वारा सीमा पर ऐसी ऐसी तेयारिया हो रही हैं। राजा ने अपने प्रधान सेनापति को समाचार पहुंचने के लिए अपने सन्देश वाहक को भेजा।

सन्देश वाहक अपने घोड़े से समाचार देने के लिए निकला। उसके थोड़ी दूर जाते ही उसके घोड़े के पैर की नाल (Horseshoe) की एक कील निकल गई।

उसने सोचा, “एक कील ही तो निकली है, कभी भी ठुकवा लेंगे।” उसने थोड़ी सी लापरवाही की।
जब वह सन्देश लेकर जा रहा था, तो घोड़े की नाल निकल पड़ी और घोडा गिर गया। सैनिक को चोट लगने के कारण वो वही पर मर गया।

और उधर सन्देश समय पर न पहुंचने के कारण दुश्मनो ने हमला कर दिया और वो देश हार गया।

दोस्तों आप देख सकते हैं कि केवल घोड़े की एक छोटी सी कील न लगवाने की लापरवाही के कारण एक पूरा देश हार गया। अगर उसने हाथो हाथ कील लगवाई होती तो शायद नतीजा कुछ ओर होता।

आजकल सब जगह क्या हो रहा?, काम में टालम टोल। रिजल्ट पूरा चाहिए लेकिन काम करने से जी चुराते हैं। इससे वो काम बिगड़ जाता हैं। इससे अपनी ही हानि होती हैं।

 इसलिए दोस्तों जो काम करना हैं, उसे कर ही लेना चाहिए। समय बर्बाद नहीं करना चाहिए।

दोस्तों कैसी लगी ये कहानी हमे कमेंट करके जरूर बताये। और भी बहुत सारी हिंदी नैतिक कहानिया, नैतिक शिक्षा की कहानिया, मोटिवेशनल कहानिया, अच्छी अच्छी कहानिया और प्रेरणादायक कहानिया पढ़ने के लिए यहाँ विजिट करे।आपका इस धाकड़ बाते ब्लॉग पर आने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद्।

अगर आपके पास भी कोई प्रेरणादायक लेख, कहानी, निबंध या फिर कोई जानकारी हैं, जो आप हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं, तो आप हमे dhakadbaate@gmail.com पर ईमेल कर सकते हैं। पसंद आने पर हम आपके नाम के साथ इस ब्लॉग पर पब्लिश करेंगे। साथ ही आप हमसे जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक कीजिये। धन्यवाद!

More stories

अपना मूल्यवान कमेंट यहाँ लिखे