सच्ची मित्रता

  दो मित्र थे। वे बड़े ही बहादुर थे। उनमे से एक ने अपने राजा के अन्याय के विरुद्ध आवाज उठाई। राजा बड़ा ही कठोर और बेरहम था। जब उसे मालूम हुआ, तो उसने उस नौजवान को फांसी पर लटका…