रिश्तो में दूरी: सबसे बड़ा कारण और निवारण

दूरी के रिश्ते: क्या करें और क्या नहीं

rishto-me-doori-ka-karan-or-nivaran

रिश्ते बहुत ही नाजुक होते हैं। बड़े ही ध्यान से संभालना पड़ता है, नहीं तो थोड़ी सी चूक से इनमें खटास आ जाती है, जिससे रिश्तो में दूरी बढ़ जाती है।

आजकल रिश्तों में दूरी का सबसे बड़ा जो कारण है, वो हे- अहंकार (Ego)

अहंकार के लक्षण

  • एक दूसरे को नीचा दिखाना।
  • हर चीज में दिमाग लगाकर बात करना।
  • अपनी कमी कभी स्वीकार नहीं करना।
  • हमेशा दूसरों की आलोचना करना।
  • हमेशा खुद की तारीफ करना।
  • बात बात में गुस्सा करना।

अगर आप में भी इनमें से कुछ भी लक्षण है तो सावधान हो जाए। यह अहंकार आपके रिश्ते को कमजोर कर रहा है और आपको पता भी नहीं चल रहा है।

रिश्तो से अहंकार कैसे को निकाले

अपनों को हमेशा बराबर महत्व दे और उन्हें कभी भी नीचा दिखाने की कोशिश ना करें।

अपने दिमाग से गुस्से और अहंकार जड़ से निकाल कर उखाड़ कर फेंक दे क्योंकि यही आपके रिश्ते की नींव को कमजोर कर रहा है।

एक दूसरे के प्रति ईमानदार रहें और एक दूसरे से हर चीज शेयर करें चाहे सुख हो या दुख अच्छा हो या बुराचाहे।

जो भी हो जाए बातचीत करना बंद ना करें क्योंकि बातचीत करके हर चीज का समाधान निकाला जा सकता है लेकिन अहंकार के कारण, यदि यह सोच ले कि वह बात नहीं कर रहा तो मैं क्यों करूं। तो इससे आपका रिश्ता कभी भी सही नहीं हो सकता है और आपके बीच में दूरियां हमेशा बढ़ती रहेगी। आज आप अपने अहंकार को साइड में रख कर खुद पहल करें और बातचीत शुरू करे।

रिश्ते बहुत नाजुक होते हैं। रिश्तो में दिमाग का नहीं दिल का प्रयोग करें। इससे आप बेहतर तरीके से रिश्तो को निभा पायेंगे।

एक दूसरे की खामियों को और खूबियों को स्वीकार करे क्योंकि कोई भी इंसान परफेक्ट नहीं होता है और आप भी नहीं। हमेशा एक दूसरे का सम्मान करें।

दूसरों को कभी कमतर नहीं आंके। अपने प्यारों की तारीफ करें। उन्हें अच्छा महसूस कराएं। उन्हें यह महसूस कराये कि उनका आपकी जिंदगी में कितना ज्यादा महत्व है।

एक दूसरे को माफ करना सीखें और अपनी जिम्मेदारियों को समझें।

किसी रिश्ते को अहंकार दिखाकर तोड़ने से अच्छा है, माफी मांग कर वो रिश्ता निभाया जाए।

Read more:

One comment

अपना मूल्यवान कमेंट यहाँ लिखे