अमिताभ बच्चन के 35 फेमस डायलॉग जो आज भी लोगों की जुबान पर हैं

अमिताभ बच्चन के बॉलीवुड मूवीज के सर्वश्रेष्ठ डायलॉग

रिश्ते में तो हम तुम्हारे बाप लगते हैं…नाम है शहंशाह।

शहंशाह

डॉन को पकड़ना मुश्किल ही नहीं, नामुमकिन है।

डॉन

तुम्हारे बाप का घर नहीं हैं, पुलिस स्टेशन है, इसलिए सीधी तरह खड़े रहो।

जंजीर

पूरा नाम विजय दीनानाथ चौहान, बाप का नाम दीनानाथ चौहान, मां का नाम सुहासिनी चौहान, गांव मांडवा, उम्र छत्तीस साल।

अग्निपथ

आज मेरे पास बंगला हैं, गाड़ी है, बैंक बैलेंस है, क्या है तुम्हारे पास?

दीवार

घड़ी घड़ी ड्रामा करता है साला।

शोले

मैं और मेरी तन्हाई अक्सर यह बातें करते हैं।

सिलसिला

मैं आज भी फेंके हुए पैसे नहीं उठाता।

दीवार

इसे भी पढ़े: बॉलीवुड MOVIES मोटिवेशनल डायलॉग PART-1

अमिताभ बच्चन के फेमस डायलॉग्स

सही बात को सही वक्त पर किया जाए तो उसका मजा ही कुछ और है और मैं सही वक्त का इंतजार करता हूं।

त्रिशूल

अगर अपनी मां का दूध पिया है तो सामने आओ।

लावारिस

मूछें हो तो नत्थू लाल जैसी वरना ना हो।

शराबी

गोवर्धन सेठ, समुंदर में तैरने वाले कुंवे और तालाबों में डुबकी नहीं लगाया करते हैं।

शराबी

मेरी हिस्ट्री जानता नहीं है तू मेरे शरीर में हड्डी कम, टांके ज्यादा है।

डिपार्टमेंट

इसे भी पढ़े: बॉलीवुड MOVIES मोटिवेशनल डायलॉग PART-2

सपने भी समुद्र की लहरों की तरह हकीक़त की चट्टानों से टकरा-कर टूट जाते हैं।

दीवार

पैसा क्या है सिर्फ एक नंबर।

तीन पत्ती

जिस तरह गोभी का फूल फूल होकर भी फूल नहीं होता वैसे ही गेंदे का फूल ही फूल होकर फूल नहीं होता

चुपके चुपके

आज आपके पास आपकी सारी दौलत सही, सब कुछ सही, लेकिन मैंने आपसे ज्यादा गरीब आज तक नहीं देखा। गुड बाय! मिस्टर आर के गुप्ता।

त्रिशूल

हम भी तो रोज खतरों से खेलते हैं।

शोले

जो कल हुआ वह दोबारा नहीं होगा।

शोले

जिंदगी और शतरंज में यही तो फर्क हैं: जिंदगी में दूसरा मौका मिलता नहीं, यहां शतरंज में मिल जाता है।

वजीर

अमिताभ बच्चन के बेस्ट मूवीज डायलॉग

मुझे जो सही लगता है, मैं करता हूं। फिर चाहे वह भगवान के खिलाफ हो, कानून के खिलाफ हो या पूरे सिस्टम के खिलाफ।

सरकार

अपनी शर्तों पर चलने वाले को कीमत चुकानी पड़ती हैं। मुझे जो सही लगता है वह मैं करता हूं।

सरकार राज

परंपरा, प्रतिष्ठा, अनुशासन; यही गुरुकुल के तीन स्तंभ है। यह वह आदर्श हैं जिनसे हम आपका आने वाला कल बनाते हैं।

मोहब्बतें

अरे यह जीना भी कोई जीना है, लल्लू।

मिस्टर नटवरलाल

वहां से तुम्हें यह 6 दिख रहा होगा लेकिन यहां से मुझे यह 9 दिख रहा है।

आखिरी रास्ता

हम जहां खड़े हो जाते हैं लाइन वहीं से शुरू होती हैं।

कालियां

इसे भी पढ़े: साउथ के सुपरस्टार अल्लू अर्जुन के 15 कोट्स

आपने जेल की दीवारों और जंजीरों का लोहा देखा है, जेलर साहब। कालिया की हिम्मत का फौलाद नहीं देखा।

कालिया

अपुन वह कुत्ते की दुम है जो 12 बरस नाली के अंदर डालकर नली टेढ़ी होती हैं अपुन सीधा नहीं होता।

लावारिश

आई कैन टॉक इंग्लिश, आई कैन वॉक इंग्लिश, आई कैन लाफ इंग्लिश बिकॉज इंग्लिश इज ए वेरी फनी लैंग्वेज. भैरों बिकम्स बैरो बिकॉज देयर माइंड्स आर वेरी नैरो।

नमक हलाल

यह टेलीफोन भी अजीब चीज है, आदमी सोचता कुछ है, बोलता कुछ है और करता कुछ है।

अग्निपथ

सूर्यवंशी एक आंख है जिसमें दोस्तों के लिए जितनी ज्योति हैं, दुश्मनों के लिए उतनी ही ज्वाला।

सूर्यवंशम

हमारे देश में काम ढूंढना भी एक काम है।

शक्ति

ऐसा तो आदमी लाइफ में दुइज बार भागता हैं, ओलंपिक का रेस हो या पुलिस का केस हो। तुम किस लिए भागता है, भाई?

अमर अकबर एंथनी

‘ना’ शब्द, एक शब्द नहीं। अपने आप में एक पूरा वाक्य हैं।

पिंक 

खेल खेल में, खेल खेल के, खेल खेल ये आ जायेगा…हार जीत से, हार जीत के, जीत हार सिखायेगा…खेल खेल में।

वजीर

इन हिंदी कोट्स को भी पढ़े:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *