7 मिनट में उदासी छूमंतर

8 तरीको से उदासी भगाये

बहुत सी बार आपका बावला मन खोया खोया सा और उदासी भरा होता है, कुछ भी अच्छा नहीं लगता है, मूड ऑफ रहता है। तो आज आपको कुछ ऐसे टिप्स बताएंगे। जो आपके उदासी से भरे बावले मन को खुशी से भर देगा:

read this also: ओवरथिंकिंग (ज्यादा सोचने) से कैसे बचे 

संगीत सुने और गुनगुनाए

संगीत सुनने से मानसिक तनाव और ब्लड प्रेशर दूर होता है। इसलिए जब भी मूड की ऐसी तैसी हो, अपना मोबाइल उठाये और अपनी पसंद का गाना चलाकर साथ ही साथ गुनगुनाते हुए तानसेन बन जाए। और हां गाने ऐसे हो जिनसे सुकून मिले, ऐसे नहीं होने चाहिए जिससे ओर उदास हो जाओ। वरना मेरे को बोलोगे फिर कि बताया नहीं।

गेम खेलें

ना..ना…ना….मोबाइल वाले नहीं। क्रिकेट खेले, बैडमिंटन खेले, कुछ भी खेले लेकिन जिससे आपके शरीर में हलचल हो, वहीं गेम खेलते हैं। इससे आपके दिमाग को ऑक्सीजन जाएगी। तो आपको अच्छा फील होगा और आपका तनाव दूर होगा।

read this also: आपका सच्चा सहायक कौन है?

ढाई इंच की स्माइल

कॉमेडी वीडियो देखने लग जाए। आप अपनी उदासी को साढ़े सात मिनट में ही भूल जाएंगे। क्योंकि आप आपके चेहरे पर ढाई इंच की मुस्कान जो होगी।

अपनों के साथ समय गुजारे

आपके हाथ में अभी जो झुनझुना है उसे तो साइड रखो और मम्मी-पापा, दादा-दादी या भाई बहन या दोस्तों के साथ समय गुजारे। यकीन मानिये बहुत अच्छा लगने लगेगा।

read this also: अगर सफल होना है तो कम्फर्ट जोन को छोड़ना होगा

पुरानी एल्बम या फोटो देखें

अपने पुराने फोटोस देखे। यह यादें ताजा करने के साथ-साथ खुशी भी देंगे और कुछ आपके मासूम सी शक्ल वाली तस्वीरों से आपके चेहरे पर मुस्कान आ जायेगी। जिससे आपका तनाव दूर भाग जायेगा और उदासी छूमंतर हो जाएगी

योग करें

आप लम्बी साँस ले, 30 सेकंड अंदर रोके, फिर छोड़ दे, फिर 15 सेकंड बाहर रोके और फिर लम्बी साँस ले। इस तरह का प्रोसेस को आप 7 बार करे। इस तरह से आप शांत हो जाएंगे और मानसिक तनाव दूर होगा।

पेंटिंग करें

कोई भी कागज लें और पेंटिंग करने लग जाए। भले ही आप अच्छे पेंटर ना हो लेकिन पेंटिंग करते रहे, ये आपको आपके मूड को ठीक करेगी और उदासी दूर करेगी।

खुली हवा में घूमे

किसी किसी शांत स्थान या बगीचे में जाएं। वहां ताजगी भरी खुली हवा में पैदल टहले। आपके अंदर अच्छे हार्मोन निकलेंगे, जिससे आपको अच्छा लगेगा। आपकी उदासी और तनाव गायब हो जाएंगे।

Read more self help article:

Leave a comment