लाल बहादुर शास्त्री के 12 प्रेरणादायक विचार

लाल बहादुर शास्त्री के प्रेरक कथन

हमें शांति के लिए उतनी ही बहादुरी से लड़ना चाहिए, जितना हम युद्ध में लड़ते हैं।
We must fight for peace bravely as we fought in war.

Lal Bahadur Shashrti
HINDI ANMOL VACHAN SUVICHAR

हम केवल दुनिया में केवल तभी सम्मान पा सकते हैं अगर हम आंतरिक रूप से मजबूत हैं और हमारे देश से गरीबी और बेरोजगारी को खत्म कर दे।
We can win respect in the world only if we are strong internally and can banish poverty and unemployment from our country.

Lal Bahadur Shashrti

अनुशासन और एकता ही किसी देश की ताकत है।
Discipline and united action are the real source of strength for the nation.

Lal Bahadur Shashrti

अगर एक आदमी भी बोल दे की वो छुआछूत से पीड़ित से तो भारत को शर्म से सर झुका देना चाहिए।
India will have to hang down her head in shame if even one person is left who is said in any way to be untouchable.

Lal Bahadur Shashrti

हमें उन कठिनाइयों पर विजय पानी है जो हमारे सामने आती हैं और हमारे देश की खुशी और समृद्धि के लिए दृढ़ता से काम करना चाहिए।
We have to surmount the difficulties that face us and work steadfastly for the happiness and prosperity of our country.

Lal Bahadur Shashrti

में किसी दूसरे को सलाह दू और में खुद उस पर अमल ना करू तो में असहज महसूस करता हु।
I had always been feeling uncomfortable in my mind about giving advice to others and not acting upon it myself.

Lal Bahadur Shashrti

हम न केवल अपने लिए बल्कि दुनिया भर के लोगों के लिए शांति और शांतिपूर्ण विकास में विश्वास करते हैं।
We believe in peace and peaceful development, not only for ourselves but for people all over the world.

Lal Bahadur Shashrti

हम स्वतंत्रता में विश्वास करते हैं, प्रत्येक देश के लोगों के लिए आजादी, बाहरी हस्तक्षेप के बिना, अपने खुद की नियति बनाने के लिए स्वतंत्रता।
We believe in freedom, freedom for the people of each country to follow their destiny without external interference.

Lal Bahadur Shashrti

लाल बहादुर शास्त्री के अनमोल वचन

आजादी का संरक्षण अकेले सैनिकों का काम नहीं है। पूरे देश को मजबूत होना है।
The preservation of freedom, is not the task of soldiers alone. The whole nation has to be strong.

Lal Bahadur Shashrti
HINDI ANMOL VACHAN SUVICHAR

शासन के मूल विचार, जैसा कि मैंने इसे देखा है, समाज में एकता रखनी है ताकि वह अपने लक्ष्यों की ओर बढ़ सके और आगे बढ़ सके।
The basic idea of governance, as I see it, is to hold the society together so that it can develop and march towards certain goals.

Lal Bahadur Shashrti

सच्चा लोकतंत्र या स्वराज कभी भी असत्य और हिंसक साधनों से नहीं आ सकते हैं।
True democracy or the swaraj of the masses can never come through untruthful and violent means.

Lal Bahadur Shashrti

कानून के शासन का सम्मान किया जाना चाहिए ताकि हमारे लोकतंत्र की मूल संरचना को बनाए रखा जा सके और आगे बढ़ाया जा सके।
The rule of law should be respected so that the basic structure of our democracy is maintained and further strengthened.

Lal Bahadur Shashrti

लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल के 13 लौह वचन

 

 

Leave a comment