स्वामी विवेकानंद जी के 21 प्रेरणादायक सुविचार

स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार

HINDI ANMOL VACHAN SUVICHAR

हम जो भी हैं, वैसा हमारे विचारो ने बनाया हैं, इसीलिए अपने विचारो पर कण्ट्रोल करे। शब्द तो बाद में आते हैं, विचार पहले और दूर तक जाते हैं।
We are what our thoughts have made us; so take care about what you think. Words are secondary. Thoughts live; they travel far.

स्वामी विवेकानंद

आपको अंदरूनी रूप से बढ़ना होगा। कोई भी आपको सिखा नहीं सकता है, कोई भी आपको आध्यात्मिक नहीं बना सकता है। कोई अन्य शिक्षक नहीं बल्कि आपकी अपनी आत्मा आपको सीखा सकती हैं।
You have to grow from the inside out. None can teach you, none can make you spiritual. There is no other teacher but your own soul.

स्वामी विवेकानंद

एक शब्द में कहु तो, आप दिव्य मनुष्य हैं।
In one word, this ideal is that you are divine.

स्वामी विवेकानंद
HINDI ANMOL VACHAN SUVICHAR

वह आदमी अमरत्व तक पहुंच गया है जो किसी भी चीज़ से विचलित नहीं होता है।
That man has reached immortality who is disturbed by nothing material.

स्वामी विवेकानंद

जिस क्षण मैंने ईश्वर को हर इंसान में बैठे महसूस किया है, उसी क्षण से में हर इंसान के सामने सम्मान से खड़ा होता हूँ और उनमे ईश्वर को देखता हूँ – उस पल से मैं बंधन से मुक्त हूं, जो कुछ भी बंधन हैं टूट चुके हैं, और मैं मुक्त हूं।
The moment I have realized God sitting in the temple of every human body, the moment I stand in reverence before every human being and see God in him – that moment I am free from bondage, everything that binds vanishes, and I am free.

स्वामी विवेकानंद
HINDI ANMOL VACHAN SUVICHAR

किसी को भी निंदा न करें: यदि आप मदद के लिए हाथ बढ़ा सकते हैं, तो ऐसा करें। यदि आप नहीं कर सकते हैं, तो अपने हाथों को फोल्ड करें, अपने भाइयों को आशीर्वाद दें, और उन्हें अपना रास्ता तय करने दें।
Condemn none: if you can stretch out a helping hand, do so. If you cannot, fold your hands, bless your brothers, and let them go their own way.

स्वामी विवेकानंद

कभी नहीं सोचना कि आत्मा के लिए कुछ भी असंभव है। ऐसा वाला सबसे बड़ा पाखंडी है। यदि पाप है, तो यह एकमात्र पाप है कि आप कमज़ोर हैं, या अन्य कमज़ोर हैं।
Never think there is anything impossible for the soul. It is the greatest heresy to think so. If there is sin, this is the only sin; to say that you are weak, or others are weak.

स्वामी विवेकानंद

स्वामी विवेकानंद जी के जीवन के कुछ प्रेरक प्रसंग Prerak Prasang Of Swami Vivekananda

जितना अधिक हम बाहर जाते हैं और दूसरों के लिए अच्छा करते हैं, उतना ही हमारा दिल शुद्ध हो जाएंगा, और भगवान उसमें प्रसन्न होंगे।
The more we come out and do good to others, the more our hearts will be purified, and God will be in them.

स्वामी विवेकानंद

यदि पैसा किसी व्यक्ति को दूसरों के लिए अच्छा करने में मदद करता है, तो इसका कुछ मूल्य है; लेकिन यदि नहीं, तो यह केवल बुराई का बोझा है, और जितनी जल्दी हो सके छुटकारा मिल जाये तो बेहतर होगा।
If money help a man to do good to others, it is of some value; but if not, it is simply a mass of evil, and the sooner it is got rid of, the better.

स्वामी विवेकानंद
HINDI ANMOL VACHAN SUVICHAR

जब एक विचार विशेष रूप से दिमाग पर कब्जा करता है, तो यह वास्तव में शारीरिक या मानसिक से रूप से दिखने लग जाता है।
When an idea exclusively occupies the mind, it is transformed into an actual physical or mental state.

स्वामी विवेकानंद

जब आप व्यस्त होते हैं तो सबकुछ आसान होता है। लेकिन जब आप आलसी हैं तो कुछ भी आसान नहीं है।
Everything is easy when you are busy. But nothing is easy when you are lazy.

स्वामी विवेकानंद

आप सभी ईश्वर के अवतार हैं। आप सर्वशक्तिमान, सर्वव्यापी, दिव्य सिद्धांत के अवतार हैं। आप इस बात के लिए अब मुझ पर हंस सकते हैं, लेकिन समय आएगा जब आप समझेंगे। तुम्हे अवश्य समझना चाहिए, कोई भी पीछे नहीं रहना चाहिए।
You are incarnations of God, all of you. You are incarnations of the Almighty, Omnipresent, Divine Principle. You may laugh at me now, but the time will come when you will understand. You must. Nobody will be left behind.

स्वामी विवेकानंद

स्वामी विवेकानंद के प्रेरणादायक कथन

जब मैंने ईश्वर से ताकत मांगी तो उसने मुझे मुश्किल परिस्थितियों से सामना कराया।
जब मैंने ईश्वर से मस्तिष्क और पुष्ट शरीर माँगा,तो उसने मुझे जीवन में बहुत पहेलियाँ हल करने के लिए प्रेरित किया।
जब मैंने ईश्वर से खुशी मांगी, तो उसने मुझे कुछ दुखी लोगों को दिखाया।
जब मैंने ईश्वर से धन माँगा, तो उसने मुझे दिखाया कठोर परिश्रम कैसे करें।
जब मैंने ईश्वर से कुछ साथ माँगा, तो उसने मुझे काम करने के अवसरों को दिखाया ।
जब मैंने ईश्वर से शांति मांगी तो उसने मुझे दिखाया कि कैसे दूसरों की मदद करे।
भगवान ने मुझे चाहिए था, कुछ भी नहीं दिया लेकिन उसने मुझे वह सब कुछ दिया जिसकी मुझे जरुरत हैं।
When I Asked God for Strength He Gave Me Difficult Situations to Face.
When I Asked God for Brain & Brawn He Gave Me Puzzles in Life to Solve.
When I Asked God for Happiness He Showed Me Some Unhappy People.
When I Asked God for Wealth He Showed Me How to Work Hard.
When I Asked God for Favors He Showed Me Opportunities to Work Hard.
When I Asked God for Peace He Showed Me How to Help Others God Gave Me Nothing I Wanted He Gave Me Everything I Needed.

स्वामी विवेकानंद

अपने जीवन में रिस्क लें यदि आप जीतते हैं,तो आप आगे बढ़ सकते हैं! यदि आप हार जाते हैं, तो आप दुसरो को गाइड कर सकते हैं!
Take Risks in Your Life If you Win, U Can Lead! If You Lose, You can Guide!

स्वामी विवेकानंद

एक दिन में कम से कम एक बार खुद से बात करें ..अन्यथा आप इस दुनिया में एक उत्कृष्ट व्यक्ति के साथ की मीटिंग के मौके को गवा सकते हैं।
Talk to yourself at-least once in a Day.. Otherwise you may miss a meeting with an EXCELLENT person in this World.

स्वामी विवेकानंद

Swami Vivekananda Quotes in Hindi

यह शांत, क्षमाशील, समान, संतुलित मन है जिससे काम का सबसे बड़ा भाग हो आसानी से हो जाता हैं।
It is the calm, forgiving, equable, well-balanced mind that does the greatest amount of work.

स्वामी विवेकानंद

एक राष्ट्र की प्रगति के लिए सबसे अच्छा थर्मामीटर यहां की महिलाओं के साथ व्यवहार है।
The best thermometer to the progress of a nation is its treatment of its women.

स्वामी विवेकानंद

विस्तार जीवन है, संकुचन मौत है। प्यार जीवन है, घृणा मृत्यु है।
Expansion is life, contraction is death. Love is life, hatred is death.

स्वामी विवेकानंद

जिस क्षण आप डरते हैं, तब आप कुछ भी नहीं हैं।
The moment you fear, you are nobody.

स्वामी विवेकानंद

13 भगवत गीता के सबक जो आपकी ज़िन्दगी में बहुत काम आएंगे

शुद्धता, धैर्य और दृढ़ता सफलता के लिए तीनो आवश्यक हैं।
Purity, patience and perseverance are the three essentials to success

स्वामी विवेकानंद

सबसे पहले आप दुनिया पर भरोसा करे कि हर एक के पीछे कुछ अर्थ हैं।
First, believe in the world – that there is meaning behind everything.

स्वामी विवेकानंद

read more:

Leave a comment