“गिलास का वजन” प्रेरणादायी कहानी

Best motivational story in Hindi

एक प्रोफ़ेसर ने अपने हाथ में पानी से भरा एक गिलास पकड़ते हुए कक्षा शुरू की। उन्होंने उसे ऊपर उठा कर सभी छात्रों को दिखाया और पूछा, “आपके हिसाब से गिलास का वज़न कितना होगा?”

50ग्राम….100ग्राम…125ग्राम…छात्रों ने उत्तर दिया।

“जब तक मैं इसका वज़न ना कर लूँ, मैं इसका सही वज़न नहीं बता सकता”. प्रोफ़ेसर ने कहा “लेकिन मेरा सवाल कुछ और हैं:-

Best motivational story in Hindi

यदि मैं इस ग्लास को थोड़ी देर तक इसी तरह उठा कर पकडे रहूँ तो क्या होगा ?”

“कुछ नहीं” …छात्रों ने कहा।

“अच्छा, अगर मैं इसे मैं इसी तरह एक घंटे तक उठाये रहूँ तो क्या होगा?”, प्रोफ़ेसर ने पूछा।

“आपका हाथ दर्द होने लगेगा”, एक छात्र ने कहा।

बेस्ट inspiring स्टोरीज इन हिंदी 

“तुम सही हो, अच्छा अगर मैं इसे इसी तरह पूरे दिन उठाये रहूँ तो का होगा?”

“आपका हाथ सुन्न हो सकता है, आपके मांसपेशियों में भारी तनाव आ सकता है , लकवा मार सकता है और पक्का आपको अस्पताल जाना पड़ सकता है”…किसी छात्र ने कहा, और बाकी सभी हंस पड़े…

“बहुत अच्छा, लेकिन क्या इस दौरान गिलास का वज़न बदला?” प्रोफ़ेसर ने पूछा।

उत्तर आया ..”नहीं

” तब भला हाथ में दर्द और मांशपेशियों में तनाव क्यों आया?”

छात्र अचरज में पड़ गए।

फिर प्रोफ़ेसर ने पूछा “अब दर्द से छुटकारा पाने के लिए मैं क्या करूँ?”

“गिलास को नीचे रख दीजिये” एक छात्र ने कहा।

“बिलकुल सही” प्रोफ़ेसर ने कहा।

अपनी ज़िन्दगी की समस्याएं भी कुछ इसी तरह होती हैं। इन्हें कुछ देर तक अपने दिमाग में रखो तो लगेगा की सब कुछ ठीक है। उनके बारे में ज्यादा देर सोचिये और आपको पीड़ा होने लगेगी। इन्हें और ज्यादा देर तक अपने दिमाग में रखने से आपका माथा ख़राब हो जायेगा और आप कुछ नहीं कर पायेंगे।

 

पने जीवन में आने वाली चुनातियों और समस्याओं के बारे में सोचना ज़रूरी है, पर उससे भी ज्यादा ज़रूरी है कि दिन के अंत में सोने जाने से पहले उन्हें ताक के नीचे रख दे, इस तरह से आप तनाव में नहीं रहेंगे। आप हर रोज़ मजबूती और ताजगी के साथ उठेंगे और सामने आने वाली किसी भी चुनौती का डट के सामना कर सकेंगे।

दोस्तों कैसी लगी ये कहानी हमे कमेंट करके जरूर बताये। और भी बहुत सारी हिंदी नैतिक कहानिया, नैतिक शिक्षा की कहानिया, मोटिवेशनल कहानिया, अच्छी अच्छी कहानिया और प्रेरणादायक कहानिया पढ़ने के लिए यहाँ विजिट करे।आपका इस धाकड़ बाते ब्लॉग पर आने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद्।

अगर आपके पास भी कोई प्रेरणादायक लेख, कहानी, निबंध या फिर कोई जानकारी हैं, जो आप हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं, तो आप हमे dhakadbaate@gmail.com पर ईमेल कर सकते हैं। पसंद आने पर हम आपके नाम के साथ इस ब्लॉग पर पब्लिश करेंगे। साथ ही आप हमसे जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक कीजिये। धन्यवाद!

और मोटिवेशनल कहानिया/कोट्स  पढ़े:

Leave a comment