चाणक्य नीति के 10 पावरफुल कथन जो आपकी जिंदगी बदल देंगे

Posted by

Slide1

1. जो शक्ति नहीं होते हुए भी मन से नहीं हारता, उसको दुनिया की कोई सी भी ताकत नहीं हरा सकती।
                                                                                                                  चाणक्य

2. किसी भी व्यक्ति की वर्तमान स्थिति को देखकर उसका मजाक न उड़ाओ, क्योकि कल में इतनी शक्ति होती हैं कि वह एक मामूली कोयले के टुकड़े को भी हीरे में तब्दील देता हैं
                                                                                                                  चाणक्य

3. मुझे वह दौलत नहीं चाहिए जिसके लिए कठोर यातना सहनी पड़े, या सदाचार का त्याग करना पड़े या फिर अपने शत्रु की चापलूसी करनी पड़े।
                                                                                                                  चाणक्य

4. काँटों से और दुष्ट लोगो से बचने के दो उपाय हैं: पैरो में जूते पहनो और उन्हें इतना शर्मसार करो की, वो अपना सर उठा न सके और आपसे दूर रहे।
                                                                                                                  चाणक्य

5. जो अस्वच्छ कपडे पहनता हो। जिसके दांत साफ़ नहीं हैं। जो बहुत खाता हो। जो कठोर बोलता हो। जो सूर्योदय के बाद उठता हो।……उसका कितना भी बड़ा व्यक्तित्य क्यों न हो, वह लक्ष्मी की कृपा से वंचित रह जायेगा।
                                                                                                                  चाणक्य

Slide2

6. जब तक तुम दौड़ने का साहस नहीं जटा पाओगे, तुम्हारे लिए प्रतिस्पर्धा में जीतना सदैव असंभव बना रहेगा।
                                                                                                                  चाणक्य

7. एक व्यक्ति को चारो वेदो और सभी धर्म शास्त्रों का ज्ञान हो। लेकिन उसे यदि आत्मज्ञान की अनुभूति नहीं हुई तो वह उसी चमचे के समान हैं, जिसने अनेक पकवानो को हिलाया, लेकिन किसी का स्वाद नहीं चखा।
                                                                                                                  चाणक्य

8. जो बीत गया, सो बीत गया।अपने हाथ से कोई गलत काम हो गया हो, तो उसकी चिंता छोड़ते हुए अपने वर्तमान को सही तरीके से जी कर भविष्य को सवारना चाहिए।
                                                                                                                  चाणक्य

Slide3

9. अगर सांप जहरीला नहीं हैं, तो भी उसे फुफकारना नहीं छोड़ना चाहिए। उसी प्रकार कमजोर व्यक्ति को भी हर वक्त अपनी कमजोरी का प्रदर्शन नहीं करना चाहिए।
                                                                                                                  चाणक्य

10. भाग्य उनका साथ देता हैं, जो हर संकट का सामना करके भी अपने लक्ष्य के प्रति दृढ़ रहते हैं।
                                                                                                                  चाणक्य

Leave a comment